Take a fresh look at your lifestyle.

प्रेरणादायी : ‘स्कॅम 1992 – द हर्षद मेहता स्टोरी’ मधील 10 हिट डायलॉग्ज

0

📈 ‘स्कॅम 1992 – द हर्षद मेहता स्टोरी’ ही वेबसिरीज सोनी लाइव्ह चॅनेलवर नुकतीच रिलिज झाली आहे. ही वेबसिरीज 4,000 कोटींच्या घोटाळा, बँकिंगचे बारकावे, शेअर मार्केट-मनी मार्केट व्यवहारातील खाचखळगे, कलाकारांचा उत्तम अभिनय यामुळे बघण्यासारखी आहे.

💰 4,000 कोटींचा घोटाळा करणारा हर्षद मेहता- हा घोटाळा उघडकीस आणणाऱ्या पत्रकार सुचेता दलाल आणि देबशिष बासू यांनी लिहिलेल्या ‘द स्कॅम’ या पुस्तकावर आधारित आहे. दिग्दर्शकाने ही कथा हर्षद मेहताच्या बाजूने सांगितली आहे. त्यामुळे प्रेक्षक या नात्याने सजग राहणे आपले कर्तव्य ठरते.

Advertisement

💁🏻‍♂️ बिझनेस स्टँडर्डच्या माहितीनुसार, हर्षद मेहताचा मुलगा अतूर मेहता याने 2018 मध्ये जेव्हा बीएसई-सूचीबद्ध टेक्सटाईल कंपनी फेअर डील फिलामेंट्समध्ये पार्टनरशिप केली होती, तेव्हा लोकांचं लक्ष वेधलं होतं. अशा काही घडामोडीमुळे त्याचं नाव अजूनही चर्चेत आहे.

🗣️ पाहुयात, ‘स्कॅम 1992 – द हर्षद मेहता स्टोरी’ मधील 10 हिट डायलॉग्ज-

Advertisement

▪️ रिस्क हैं तो इश्क हैं।

▪️ देखो मैं सिगरेट नहीं पिता पर जेब में लायटर हमेशा रखता हूँ, धमाका करने के लिए।

Advertisement

▪️ सक्सेस क्या हैं ? फेल्युअर के बाद का नया चाप्टर।

▪️ जब जेब में मनी हो ना, तो कुंडली में शनी होने से कोई फर्क नहीं पडता।

Advertisement

▪️ शेयर मार्केट में लोग किस्मत पर विश्वास रखते हैं। मैं किस्मत में नहीं, कीमत पर विश्वास रखता हूं।

▪️ शेयर मार्केट इतना गहरा कुंआ है, जो पूरे देश की पैसे की प्यास बुझा सकता है। मैं इस कुएं में डूबकी लगाना चाहता हूं।

Advertisement

▪️ ‘लाला! ओल्ड स्कूल हो या न्यू स्कूल। सबके सिलॅबस में एक सब्जेक्ट कॉमन होता है.. प्रॉफिट। वो मेरा फेवरेट सब्जेक्ट है।

▪️ प्रॉफिट दिखता हैं, तो कोई भी झुकता हैं।

Advertisement

▪️ लोचा, लफडा और जलेबी, फाफडा इसको गुजराती की लाईफ से कोई निकाल नहीं सकता।

Advertisement

Leave a Reply